मूंगा रत्न क्या है, इसके शक्तिशाली फायदे, असली नकली की पहचान और धारण विधि और कौन धारण करें ?

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार मूंगा रत्न को मंगल ग्रह से जोड़ा गया है यदि आपकी कुंडली में मंगल कमजोर है या दूषित है तो ऐसी स्तिथि में आपको मूंगा धारण करना चाहिए । मूंगा सफेद, काला, गेरुआ, सिंदूरी और लाल रंग का होता है ।

मूंगा रत्न पहनने से मंगल ग्रह की शक्तियों में वृद्धि होती है जिससे मंगल मजबूत होता है और हमें अधिक शुभ प्रभावों की प्राप्ति होती है ।

मूंगा रत्न के अत्यंत शक्तिशाली फायदे –

इस रत्न को चांदी, सोना या तांबें में धारण करने से बुरी नजर से छुटकारा मिलता है एवं भूत प्रेत आदि के भय हमेशा के लिए समाप्त हो जाते हैं ।

मेडिकल क्षेत्र से जुड़े लोगों को इसे अवश्य धारण करना चाहिए इसे धारण करने से उन्हें अत्यंत लाभ प्राप्त होगा ।

मूंगा रत्न पहनने से आत्मविश्वास में वृद्धि होती है एवं दूसरों के प्रति ईर्ष्या समाप्त होती है।

मानसिक थकावट एवं उदासी पर नियंत्रण पाने के लिए मूंगा अवश्य धारण करें ।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर इंजीनियर, हथियार बनाने वाले, सर्जन करने वाले, पुलिस, डॉक्टर, आर्मी आदि के लोगों को मूंगा धारण करने से विशेष प्रकार का लाभ मिलता है ।

यदि आप आलसी हैं तो आपको मूंगा अवश्य धारण करना चाहिए इसे धारण करने से आलस से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है।

यदि किसी व्यक्ति को रक्त से संबंधित समस्याएं हैं तो उसे मूंगा अवश्य धारण करना चाहिए इसे धारण करने से अत्यंत लाभ मिलेगा ।

पीलिया एवं मिर्गी रोगियों के लिए मूंगा धारण करना अत्यधिक लाभकारी है।

यदि आपके जीवन में अनेकों प्रकार की परेशानियां आ रहीं है और आप चाहते हैं की उनसे आपको छुटकारा मिले तो ऐसी स्तिथि में आपको मूंगा धारण करना चाहिए ।

मूंगा नेतृत्व क्षमता में वृद्धि करता है और भविष्य में आने वाली चुनौतियों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है।

लोगों के मान्यता अनुसार यदि गर्भवती स्त्री मूंगा रत्न धारण करे तो गर्भावस्था के शुरुआती 3 महीनों में गर्भपात की संभावना अत्यधिक कम हो जाती है।

वे बच्चे जो कुपोषण से पीड़ित हैं उन्हें लाल मूंगा धारण करना चाहिए यह उनके लिए लाभकारी है।

असली – नकली मूंगे की पहचान कैसे करें ?

Parliament Hill

मित्रों मूंगे की असली होने की पहचान अनेक उपायों से की जा सकती है नीचे निम्नलिखित उपाय हैं जिनके माध्यम से असली – नकली मूंगे की पहचान की जाती है –

1. असली मूंगा पहचानने के लिए एक बूंद पानी मूंगे पर टपकाएं और यह देखें कि उस पर पानी रुका है या नहीं, यदि मूंगे पर पानी रुका है तो इसका अर्थ यह हुआ कि यह मूंगा नकली है।

2. मूंगा फिसलनयुक्त एवं चिकना होता है, जो नकली रत्न होता है वह गाढ़े रंग का होता है और फिसलता नहीं है।

3. मूंगा खरीदते समय यह अवश्य ध्यान देना चाहिए की वह कहीं से भी कटा हुआ न हो और उस पर किसी भी प्रकार का काला दाग नहीं होना चाहिए ।

4. यदि मूंगा रत्न को मैग्निफाइंग ग्लास द्वारा देखा जाए तो उस पर सफेद बॉल बराबर खड़ी रेखाएं देखने को मिलती हैं, इसके विपरित नकली मूंगे में नहीं दिखाई देती।

5. यदि ओरिजनल मूंगा शीशे पर घिसा जाए तो बिलकुल भी आवाज नहीं करता इसके अलावा इस पर हाइड्रोक्लोरिक एसिड की बूंदे डालने पर झाग बनता है।

मूंगा रत्न कौन धारण करें –

1. धनु, मीन, मेष, सिंह, वृश्चिक राशि या लग्न वाले लोग मूंगा धारण कर सकते हैं ।

2. सूर्य का मित्र मंगल है इसलिए माणिक के साथ मूंगा धारण किया जाता है।

3. मूंगा रत्न, मोती और पुखराज के साथ धारण कर सकते हैं इसे आप अंगूठी एवं लॉकेट के रूप में भी धारण कर सकते हैं ।

4. जिन लोगों में आत्मविश्वास की कमी, सुस्त हों, स्वप्न से डरते हों एवं खून से संबंधित विकार हों तो ऐसे लोगों के लिए मूंगा लाभकारी है।

5. मूंगा रत्न तांबा, सोना, चांदी में अपने इच्छा अनुसार धारण कर सकते हैं ।

6. मूंगा रत्न को अनामिका उंगली में धारण करना चाहिए ।

मूंगा रत्न पहनने के विधि (How to wear Coral Gemstones)-

लाल मूंगा रत्न सोने या तांबे में धारण करना अत्यंत शुभ माना गया है। मूंगा रत्न कम से कम पांच कैरेट का धारण करना चाहिए इसे शुद्ध करने हेतु गंगाजल या गाय के दूध में पूरी रात डुबो कर रखने से इसकी सारी अशुद्धियां दूर हो जाती हैं ।

मित्रों मूंगा रत्न मंगलवार को धारण करना चाहिए क्योंकि इसका स्वामी मंगल है इसलिए यह दिन इसे धारण करने के लिए अत्यंत शुभ है मंगलवार के दिन सुबह “ऊॅ भौमाय नमः” मंत्र का 108 बार जाप करें और भगवान हनुमान जी के चरणों में मूंगा रखकर उनसे प्रार्थना करें । ‘है महावीर हनुमान हम आपकी कृपा से यह रत्न धारण कर रहे हैं हमें इसका पूरा लाभ प्राप्त हो’ इतना कहने के पश्चात इसे धारण कर लें ।

कितना कैरेट का धारण करें –

मित्रों सभी रत्न वजन के हिसाब से धारण किए जाते हैं उदाहरणानुसार यदि आपका वजन 50 किलो है तो आपको 5 कैरेट का मूंगा धारण करना चाहिए, इसी प्रकार यदि आपका वजन 70 kg है तो आपको 7 कैरेट का मूंगा धारण करना चाहिए, रत्नों को हमेशा वजन के हिसाब से धारण किया जाता है।

मूंगा रत्न कहां से खरीदें ?

यदि आप हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से अभिमंत्रित मूंगा रत्न खरीदना चाहते हैं जो आपको लैब सर्टिफाइड दिया जाएगा । हमने जनकल्याण हेतु इसकी कीमत कम रखी है यह आपको हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र में मात्र 300₹ कैरेट मिल जाएगा । यह हमारे पंडितों द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ मिलेगा जिससे आपको इसका तुरंत लाभ प्राप्त हो सके ।

कॉल और व्हाट्सएप – 7567233021

 

Leave a Comment

Open chat
1
हमसे बात करें -
नमस्कार मित्रों
हम आपकी क्या सहायता कर सकते है ?