गोमेद रत्न के बारे में बताएं । ( Gomed Ratna Ke Bare Me Bataye

गोमेद रत्न के बारे में बताएं ? ( Gomed ratna ke bare me bataye )

गोमेद रत्न का क्या मतलब होता है आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे गोमेद रत्न बहुत ही प्राचीन रत्न है यह राहू का रत्न है इस रत्न को राहू की महादशा चलने पर धारण किया जाता है गोमेद रत्न ( gomed ratna ) को धारण करने से बहुत से फायदे है जिसके बारे आगे हम आपको बताएंगे लेकिन उससे पहले हम गोमेद रत्न के बारे में जानकारी देने वाले है तो फिर आइए जानते है ।

गोमेद रत्न धारण क्यों किया जाता है

गोमेद रत्न के बारे में जानकारी  ( gomed ratna ke bare me jankari )

गोमेद रत्न एक ऐसा रत्न हैं जिसको पहनने से राहू की महादशा अगर चल रहीं हो तो उसमे राहत मिलती है गोमेद रत्न ( gomed stone ) का अर्थ बहुमूल्य रत्नों से है इसे सभी देशों में अलग अलग नाम से जाना जाता है इसे संस्कृत में गोमेदक कहते है और इसे हिंदी है गोमेद कहते है इसे फारसी में जरकुनिया कहते हैं और अंग्रेजी में इसे जिरकॉन कहते है गोमेद ( gomed ) को और भी बहुत से नाम से जाना जाता है इसके बारे में चाहें तो आप जान सकते है ।

इसे भी पढ़े :- जरकन ( zicron american diamond ) क्या होता है, जरकन के फायदे और इसे कैसे खरीदे ।

गोमेद रत्न किसे कहते है ? ( Gomed Ratna Kise Kahte Hai )

गोमेद रत्न ( gomed ratna ke fayde ) वह रत्न है जिसे राहू और शनि की महादशा में पहना जाता है इसे पहनने से राहू की चल रहीं महादशा में राहत मिलती है और धीरे धीरे परेशानियां भी जल्द ही खतम होने लगती है राहू एक बहुत ही क्रूर ग्रह है यह ग्रह जिस किसी भी व्यक्ति के ऊपर भारी होता है वह व्यक्ति बर्बाद हो जाता है उस व्यक्ति के ऊपर बहुत सारा कर्जा होने लगता है वह व्यक्ति जुआ, दारू, नशा, आदि में अपना पैसा बर्बाद करता है धीरे धीरे वह व्यक्ति पुरी तरह से बर्बाद हो जाता है उसके बाद उस व्यक्ति के दिमाग में मरने का विचार भी आने लगता है लेकिन ऐसा तब ही होता है जब राहू ग्रह की महादशा अधिक चल रही हो तभी ऐसी स्थति पैदा होती है
इसलिए ज्योतिषी की माने तो ग्रह चाहें कोई भी हो उसक
उपाय करना बहुत जरूरी होता है ।

गोमेद रत्न की पहचान ? ( Gomed Ratna Ki Pahechan )

गोमेद रत्न चिंकना और चमकदार होता है ।
• गोमेद रत्न उल्लू की आंख की तरह दिखाई देता है जिसे
देखकर कोई भी पहचान सकता है ।
• शुद्ध गोमेद रत्न ( gomed ratna kyu pahna jata hai ) को अगर लकड़ी पर घिसा जाएं तो वह और चमकता है ।
• नकली गोमेद रत्न को अगर घिसा जाए तो उसकी
चमक घट जाती है ।
• असली गोमेद रत्न को अगर आप दूध में डालेंगे तो दूध का रंग बदल जाएगा वही अगर नकली गोमेद को दूध में डाले तो दूध का रंग का बिलकुल भी नहीं बदलता हैै

इसे भी पढ़े :- गोमेद रत्न क्या है, गोमेद रत्न के फायदे और चमत्कारी रत्न से क्या होता है जाने।

गोमेद रत्न पहनने की विधि ? ( gomed ratna pahnne ki vidhi )

गोमेद रत्न को शनिवार के दिन पंचधातु या अष्टधातु में धारण करना चाहिए अगर आप ओपल या मूंगा धारण करते है तो आपको गोमेद रत्न ( gomed ratna ke labh ) नही पहनना चाहिए गोमेद रत्न को धारण करते समय इसे सिद्ध जरूर करें नही तो यह पूर्ण रुप से फल नहिं देता है गोमेद रत्न को सिद्ध करने के लिए आपको (ॐ रां राहवे नम:’) इस मंत्र का आपको 180 बार जाप करना है इसके बाद यह पूर्ण रुप से जागृत होकर फल देने लगता है ।

गोमेद रत्न के लाभ ? ( Gomed Ratna Ke Labh )

गोमेद रत्न पहनने से कार्य में सफलता मिलती है नौकरी
और व्यापार में लाभ होता है ।
गोमेद रत्न ( gomed kitni ratti ka pehne ) पहनने से बीमारियों से छुटकारा मिलता है।
गोमेद रत्न पहनने से मन में बुरे विचार नही आते है ।
गोमेद रत्न पहनने से ही जीवन में खुशियां आती है मन
एकाग्र होता है परेशानी खतम होती है ।
गोमेद रत्न को पहनने से शारिरिक लाभ होता है
गोमेद रत्न पहनने से शादी शुदा जीवन में मधुरता आती है
• अगर किसी व्यक्ति की शादी नही हो रही है ऐसा व्यक्ति भी गोमेद रत्न को धारण कर सकता है इससे जल्द से जल्द
शादी हो जाती है ।
गोमेद रत्न ( gomed ratna ) पहनने से आर्थिक लाभ होता है धन से जुड़ी समस्या भी जल्द ही खतम हो जाती है ।
गोमेद रत्न पहनने से जीवन में कभी भी परेशानी नही आती है
जीवन सुखमय हो जाता है इस तरह से गोमेद रत्न धारण करने व्यक्ति के जीवन में बहुत सुधार आता है

गोमेद रत्न की दिन पहनना चाहिए ? ( Gomed Ratna Ki Din Pahnna Chahiye )

गोमेद रत्न को किस दिन पहनना चाहिए अक्सर लोगों के
मन में यह बात आती है लेकिन हम आपको बता दे की
गोमेद रत्न ( gomed stone ) आपको शनिवार के दिन पुजा पाठ करके
सबसे बडी ऊंगली में पहनना चाहिए जिसे हम सभी
लोग बीचवाली ऊंगली भी कहते है ।

इसे भी पढ़े :- ओपल रत्न क्या है, ओपल रत्न के फायदे और ओपल रत्न कैसे खरीदे।

गोमेद रत्न किस ऊंगली में पहनना चाहिए ? ( Gomed Ratna Kis unglin me pahnna chahiye )

गोमेद रत्न को दाएं हाथ की सबसे बड़ी वाली उंगली में
पहनना चाहिए आप चाहें तो किसी भी उंगली में पहन
सकते है लेकिन ज्योतिष के अनुसार बीचवाली ऊंगली में
पहनने से सबसे अधिक लाभ होता है इस तरह से गोमेद
रत्न को सबसे बड़ी ऊंगली में पहनना चाहिए ।

गोमेद रत्न की क़ीमत ? ( Gomed Ratna Ki Kimat )

गोमेद रत्न की कीमत आजकल मार्केट में बहुत अधिक है लेकिन अगर आप गोमेद रत्न ( gomed stone ke nukshan )  बहुत ही कम कीमत में खरीदना चाहते है तो आप हमसे खरीद सकते है खरीदने के लिए 7567233021
इस नम्बर पर हमसे सम्पर्क करें ।

इसे भी पढ़े :- गोमेद रत्न किसे पहनना चाहिए, इसके क्या लाभ है और इसे कैसे खरीदे।

गोमेद कितनी रत्ती का पहनें ? ( Gomed Kitani Ratti Ka Pahne )

गोमेद कितनी रत्ती का पहनना चाहिए हम सभी के मन में यह विचार आता है लेकिन दोस्तों आपको चिंता करने की बिलकुल भी जरूरत नही है दोस्तों गोमेद रत्न ( gomed stone kaise pahne )  को अपने वजन के हिसाब से धारण किया जाता है आपका वजन अगर 50kg है तो आपको 5 कैरेट का गोमेद रत्न पहनना चाहिए इसी के साथ आपका वजन जितना है आपको उतना रत्ती का गोमेद पहनना चाहिए ।

Leave a Comment

Open chat
1
हमसे बात करें -
नमस्कार मित्रों
हम आपकी क्या सहायता कर सकते है ?