आत्म सम्मोहन क्या है और उसे सीखने के अत्यंत लाभकारी, कार्य साधक और महाशक्तिशाली फायदे ? (भाग 3)

Remarkables Queenstown

 

आत्म सम्मोहन क्या है और उसे सीखने के अत्यंत लाभकारी, कार्य साधक और महाशक्तिशाली फायदे ? (भाग 3)

नमस्कार मित्रों आपका हमारे इस लेख में स्वागत है आत्म सम्मोहन एक ऐसी क्रिया है जिसके दरमियान हम अपने मन को सुझाव देते है अपने मन को बुरी चीजों को करने से रोकते है अपने मन को सही कार्य करने के लिए कहते है इसी क्रिया को आत्म सम्मोहन कहते है मित्रों आप स्वामी विवेकानंद जी को जानते ही होंगे ये जिस किताब को एक बार पढ़ते थे वह किताब इन्हें जीवन भर याद रहती है ऐसा इसलिए होता था क्योंकि जब भी यह किताब पढ़ते थे तो इनका मन सिर्फ किताब में लिखे शब्दों की ओर होता था ऐसा उनके आत्म सम्मोहन क्रिया की वजह से था क्योंकि उन्होंने अपने मन को आत्म सम्मोहन से अपने वस में किया हुआ था इसलिए इनके एक सुझाव से ही इनका मन इनके कार्य को करने लगता था।

  

जबकि एक सामान्य व्यक्ति के साथ ऐसा नहीं होता जब वह व्यक्ति किसी अच्छे कार्य को करने कि कोशिश करता है तो उसका मन उसे वह कार्य करने नहीं देता और वह व्यक्ति अपने मन से हार जाता है भगवान श्री कृष्ण गीता में कहते हैं कि मन से अपनी बात मनवाना इतना आसान नहीं है लेकिन असंभव भी नहीं है इसे निरंतर अभ्यास के माध्यम से किया जा सकता है। यह बात कहने में तो एक वाक्य कि लगती है लेकिन अगर इसे करने का प्रयास किया जाए तो वह बहुत कठिन है।

 

इसे भी पढ़ें :- सम्मोहन विद्या क्या है और इसे सिखने के फायदे ? 

 

मित्रों बहुत से लोग अपनी बुरी आदतों से परेशान है किसी को शराब पीने की आदत है, बीड़ी पीने की आदत, मानसिक बीमारी, ज्यादा खाने पीने की आदत, मोबाइल चलाने की आदत, गेम खेलने की आदत, नींद न आना, रात को देर से सोने की आदत, हस्तमैथुन की आदत, तमाकु की आदत, ज्यादा गुस्से कि आदत, गाली देने की आदत, पढ़ाई में मन न लगना, कम खाना भूख प्यास न लगना, पूजा पाठ में मन न लगना, आलस आना, हाइट न बढ़ना, सिर में दर्द, पेट में दर्द शरीर में किसी भी हिस्से में दर्द होना, ब्लू फिल्में देखना, ज्यादा बोलने की आदत, आत्मविश्वास का कमजोर होना । हर कोई किसी न किसी परेशानी में है और उससे बाहर निकलना चाहता है अगर आत्म सम्मोहन विद्या को सीख लिया जाए तो ऐसी परेशानी को आसानी से छुड़ाया जा सकता है इस विद्या के माध्यम से ऐसी ही अनेकों बुरी आदतों को छुड़ाया जा सकता है।

आज के समय में लोगों को बहुत सी बीमारियां होती है और वह उसी बीमारी के चक्कर में अनेकों पैसा खर्च कर देते है लेकिन वह बीमारी ठीक होने का नाम ही नहीं लेती किसी को कैंसर सता रहा है तो किसी को डायबिटीज । आत्म सम्मोहन के माध्यम से कैंसर जैसी बीमारी आसानी से दूर की जा सकती है। बहुत से लोगों को ऑफिस में बहुत काम की वजह से सिर दर्द होता है हाथ पैर में दर्द होता है तनाव महसूस होता है। आत्म सम्मोहन सीखने से यह सभी समस्याएं आसानी से दूर की जा सकती है।

 

इसे भी पढ़ें :- स्याही के कांटे से अपने शत्रु को बर्बाद कैसे करें ? महाशक्तिशाली टोटका ।

 

बहुत से लोगों की याददाश्त कमजोर होती है वह यह भी याद नहीं कर पाते कि उन्होंने कल क्या खाया था परसों क्या खाया था, पढ़ा हुआ बिल्कुल याद नहीं रहता है पढ़ने के 15 मिनट बाद जो पढ़ा भूल जाते है तो ऐसी स्तिथि में इस विद्या के माध्यम से अपने यादाश्त को तीव्र बनाया जा सकता है इस विद्या को सीखने के बाद आप जो भी चीजें पढ़ेंगे वह आपको सालों तक याद रहेगी तो उस प्रकार से यह विद्या आपके लिए लाभकारी है।

 

मित्रों आज कल का समय कॉम्पिटिशन का है और इस समय में हर कोई आगे आना चाहता है बच्चे को स्कूल में पहले न : से पास होना चाहते है और जॉब वाले अच्छा काम करके अपना प्रमोशन चाहते है और बिजनेस वाले अपने कॉम्पिटीटर से अपना बिजनेस आगे लाना चाहते है हर क्षेत्र में कॉम्पिटिशन है। आत्म सम्मोहन सीखने पर अपने मन को केन्द्रित करके कार्य किया जाता है जिसके दरमियान जब आप किसी कार्य को करेंगे तो आपका मन विचलित नहीं होगा और वह कार्य करने में आपको अत्यधिक मजा आएगा और वह कार्य आप लंबे समय तक कर सकेंगे। इस विद्या को सीखने के पश्चात किसी भी क्षेत्र में आसानी से सफलता हासिल की जा सकती है। 

My Image

 

मित्रों निद्रा आना यह तो स्वाभाविक है लेकिन कभी कभी हम खुद चाहते है कि हमें नींद न आएं। काम ज्यादा होने पर हम सोचते है कि काम खत्म करने के पश्चात सोएं लेकिन हम इतना सोच ही पाते है कि हमें नींद आ जाती है हम हमारी निद्रा पर विजय प्राप्त नहीं कर पाते है और हम हमारे कार्य को पूरा किए बिना सो जाते है तो ऐसी स्तिथि में अगर आत्म सम्मोहन सीख लिया जाए तो अपने निद्रा पर आसानी से विजय प्राप्त किया का सकता है।

 

इसे भी पढ़ें :- नेत्र सम्मोहन क्या है और इसके महाशक्तिशाली फायदे ? 

 

बहुत से लोगों को बाहर की चीजें खाने की आदत होती है और हम सब यह जानते है कि बाहर की चीजें बिल्कुल भी अच्छी नहीं होती है जो की हमारे शरीर को खराब कर देती है बहुत बार ऐसा होता है कि जब हम मार्केट जाते है और वहां कुछ अच्छी चीेंज हमें खाने को दिख जाती है तो हम हमारे मन पर कंट्रोल नहीं कर पाते और उसे खा लेते है जो कि बिल्कुल भी सही नहीं है हमें बाहर की चीजें न के बराबर खानी चाहिए तभी हमारा शरीर स्वस्थ रहेगा आत्म सम्मोहन सीखने पर इन बुरी आदतों को आसानी से छुड़ाया जा सकता है।

 

मित्रों अपने जीवन में सबसे ज्यादा खुद पर विश्वास होना चाहिए जब तक मनुष्य को खुद पर विश्वास नहीं होगा वह किसी भी कार्य को नहीं कर सकता किसी भी क्षेत्र में सफलता हासिल नहीं कर सकता। स्वामी विवेकानंद जी कहते है कि “जब तक तुम्हें खुद पर विश्वास नहीं है तब तक तुम उस परमेश्वर पर भी विश्वास नहीं कर सकते” इसीलिए व्यक्ति को अपने ऊपर विश्वास होना जरूरी है। जिन लोगों का आत्म विश्वास कमजोर होता है वह किसी भी कार्य को करते समय पहले यह सोच लेते है कि मैं इस कार्य को नहीं कर सकता और होता भी वही है वह उस कार्य को नहीं कर पाते क्या आपने कभी सोचा है कि जब थॉमस एडिशन बल्ब की खोज कर रहे थे उनके आसपास के साइंटिस्ट ने उन पर बहुत हंसा था और कहा था की तुम यह कार्य नहीं कर सकते लेकिन सर थॉमस एडिसन का आत्मविश्वास बहुत बलवान था जिसकी वजह से उन्होंने आज पूरे विश्व को जगमगा दिया। अगर आप भी अपना आत्म विश्वास सर थॉमस एडिशन जैसा करना चाहते है तो इस शक्तिशाली विद्या को जरूर सीखें ।

 

इसे भी पढ़ें :- टोना टोटका क्या होता है टोना टोटका हटाने का उपाय ? 

 

मित्रों अगर अपने मन को शांत कर लिया जाए तो हम दूसरे के मन की बातें वह क्या सोच रहा है आसानी से जान सकते हैं भगवान बुद्ध की एक कहानी है जिसे में छोटा करके आपको सुनाता हूं एक बार की बात है गौतम बुद्ध के पास एक राजकुमार सन्यासी बनने के लिए आया था और गौतम बुद्ध ने उसे दीक्षा मांगने के उद्देश्य से पास के गांव में भेजा और वह राजकुमार सन्यासी बनकर पास के गांव के एक ब्राह्मण के दरवाजे को खटखटाता है वहां से एक स्त्री बाहर आती है और उस स्त्री ने राजकुमार को जो कि अब एक सन्यासी बन चुका था उसे बड़े आदर सत्कार से अपने घर में बुलाया और राजकुमार जैसे ही जमीन पर बैठा वह यह सोचने लगा कि मैं जब राजकुमार था तो मैं कितनी अच्छी-अच्छी चीजें खाया पिया करता था अब तो मुझे अच्छी चीजें भी खाने को नहीं नसीब होगी इतना कहते ही स्त्री उनकी बातें सुन लेती है जबकि राजकुमार जो कि सन्यासी है वह अपने मन में बोलता है और जैसा वह सोचता है उसी प्रकार का खाना उसके समक्ष वह ब्राह्मण स्त्री ले आती है ऐसा दूसरी बार भी होता है जब बार बार जैसा वह सोचता है वैसा ही होता है तो वह राजकुमार उस स्त्री से जाकर पूछता है कि जो मैं सोचता हूं वह बातें आपको कैसे पता चल जाती है तो वह स्त्री उसे बताती है कि मैंने अपने मन को अपने वश में किया हुआ है जिसके माध्यम से मेरा मन हमेशा शांत ही रहता है और मैं दूसरे की मन बातें आसानी से सुन लेती हूं” तो इस प्रकार से अगर अपने मन को अपने वश में कर लिया जाए तो दूसरे की मन की बातें आसानी से सुनी जा सकती है। इस विद्या के माध्यम से एक क्षण में आप जान सकते हैं कि वह सामने वाला व्यक्ति क्या सोच रहा है तो मित्रों इस प्रकार से यह विद्या एक अत्यंत शक्तिशाली विद्या है जिसे मनुष्य को जरूर सीखना चाहिए। इस विद्या को सीखने के पश्चात मनुष्य को अपने जीवन में सफलता हासिल करने से कोई भी रोक नहीं सकता बड़ी से बड़ी परेशानियां उसके लिए कुछ भी नही होगी।

 

इसे भी पढ़ें :- बच्चे को नजर से बचाने के 15 जबरदस्त उपाय ? 

अगर आप भी इस विद्या को सीखना चाहते है और अपने जीवन को सफल बनाना चाहते है शक्तिशाली बनाना चाहते है तो आप हमारे पूज्य गुरुजी से बात करके इस विद्या का ज्ञान प्राप्त कर सकते है अगर आप चाहें तो गुरु दक्षिणा भी ले सकते है क्योंकि इस विद्या को सीखने के पश्चात अगर आपको भविष्य में ऐसी ही और विद्याओं के बारे में जानना हो या इसी विद्या को सीखते समय कोई समस्या आए तो आप आसानी से उनसे बात कर सकते है जरूरी नहीं है अगर आप चाहें तो ले सकते है। गुरुजी से बात करने हेतु संपर्क सूत्र : Call and WhatsApp :- (+917567233021)

 

अगर आप साधक है और आपके पास किसी विद्या का अनुभव है या आप किसी विद्या कि सिद्धि कैसे करें इसके बारे में जानते है तो आप लेख के माध्यम से हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र को अपना अनुभव दे सकते है जिसे हम फेसबुक, वॉट्सएप और हमारे वेबसाइट पर अपलोड कर देंगे। जिससे आपकी सिद्धि के बारे में लोगों को पता चलेगा और लोगों के ज्ञान में वृद्धि होगी 🙏🙏 ऐसा करके हमारी सहायता जरूर करें।

 

सूचना : इस विद्या का गलत इस्तेमाल न करें इस विद्या का सिर्फ अपने और लोगों के फायदे के लिए ही उपयोग करें नहीं तो आपको वह सच्चिदानंद निराकार परमेश्वर देख रहा है उसके यहां सच्चाई और अच्छाई कि गंगोत्री बहती है इसलिए इसका गलत उपयोग न करें।

सिद्ध सर्वमोहन लीला यंत्र : यह एक प्रकार की ताबीज आती है जिसे गले में धारण करने से जिसके समक्ष जाएं वह वस में हो जाता है और उससे जो कार्य करवाना चाहते है वह करवा सकते हैं और इसका असर चौबीस घंटे में होने लगता है अगर आप यह यंत्र मंगवाना चाहते है तो आप हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से मंगा सकते है :-

Contact and WhatsApp :- 7567233021

अगर आप भी भूत, प्रेत, डाकिनी, शाकिनी, गंधर्व, बेताल, ब्रह्मराक्षस, चुड़ैल, जिन्न आदि से परेशान है तो इससे आप बहुत आसानी से छुटकारा पा सकते है हमारे पूज्य गुरुदेव के द्वारा दिए गए ताबीज से आप इन सभी से मुक्ति पाकर अपने जीवन को सुखमय बना सकते है ताबीज मात्र ₹251 में आपको घर बैठे प्राप्त हो जाएगी । ( WhatsApp and Call :- +917567233021)

 

अगर आप डायनों से बचना चाहते है या महाशक्तिशाली सिद्धियां (काली सिद्धि, भैरव सिद्धि, हनुमान सिद्धि, काली कलकत्ते सिद्धि, बंगलामुखी सिद्धि, जिन्न सिद्धि, महापिसाच सिद्धि ) ऐसी ही महाशक्तिशाली सिद्धियां सीखना चाहते है और अपने आपको महाशक्तिशाली बनाना चाहते है तो आप हमारे पूज्य गुरुदेव जी से बात कर सकते है वे सभी महासिद्धियों के ज्ञाता है गुरुदेव जी का नंबर नीचे दिया हुआ है आप उनसे बात कर सकते है :-

(+917567233021)

ऐसे ही अनेकों रोचक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट :- www.jyotisite.com और फेसबुक पर बने रहें ।

आपका यह लेख पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद 🙏🙏

Leave a Comment

Open chat
1
हमसे बात करें -
नमस्कार मित्रों
हम आपकी क्या सहायता कर सकते है ?