भूत किसे कहते है ? भूत प्रेत से बचने के उपाय

Parliament Hill

 

1. भूत किसे कहते है ?

उत्तर :- जिस किसी भी व्यक्ति की मृत्यु से पहले किसी भी प्रकार की ईक्षा पूरी नही हो पाती और वो पुनर्जन्म के लिए स्वर्ग या नर्क नही जा पाते फिर वह भूत बन जाते है ऐसे व्यक्ति को भूत कहते है । वैसे तो भूत कई प्रकार के होते है कई भूत अच्छे और मददगार भी होते है और गई भूत जानलेवा और खतरनाक भी होते है कई बार इसका कारण खतरनाक मोत भी है।

कई लोग तड़पा कर मार दिए जाते है जिसके कारण भी वे भूत बन जाते है । सबसे ज्यादा भूत प्रेत में विश्वास भारत के लोग रखते है और ये विश्वास आज भी उतना ही बना हुआ है मान्यता यह भी है कि भूत प्रेत शरीर में समा जाते है जो व्यक्ति  राक्षस प्रगति के होते हैं ऐसे व्यक्ति जो कभी  कभी नहाते हैं   मांस और दारू का सेवन करते हैं जो अमावस्या और पूर्णिमा को नहीं मानते ऐसे लोग आसानी से भूत प्रेत की चंगुल में आ जाते हैं।

 

2. शरीर मे भूत है इसकी पहचान कैसे करें ?

 

उत्तर:- शरीर में भूत है इसकी पहचान विभिन्न तरह से की जा सकती है । भूत प्रेत से परेशान व्यक्ति की पहचान उसके स्वभाव और उसके कार्यो में आये बदलाव से की जा सकती है जिस किसी भी व्यक्ति के शरीर में भूत रहता है।वह व्यक्ति पागल  की तरह बात करने लगता है गुस्सा आने पर वह व्यक्ति एक साथ में चार पांच आदमियों को पछाड़ सकता है उस व्यक्ति की आंखें लाल हो जाती है इतना ही नही और भी बहुत से राक्षस शारीर में सवार हो सकते है जैसे :- पिसाच, प्रेत, शाकिनी, चूड़ेल, यक्ष, ब्रह्मराक्षस, यैसे और भी भूत – प्रेत आप पर सवार होकर आप पर अलग – अलग तरह का परभाव डालते है । अब हम आपको और भी बहुत से राक्षस के सवार होने का प्रभाव बताने वाले है।

• पिशाच से परेसान व्यक्ति – पिसाच से सवार हुआ व्यक्ति सदैव बुरा कर्म करता है ।

जैसे :- नग्न हो जाना, कभी कभी नहाना, खराब भोजन करना, और उस व्यक्ति के शरीर से बदबू भी आती है वह व्यक्ति अकेले रहना पसंद करता है वह व्यक्ति हमेशा बीमार रहता है।

• प्रेत से परेशान व्यक्ति – प्रेत से परेशान हुआ व्यक्ति चिल्लाता रहता है वह वयमती इधर उधर भागता रहता है वह व्यक्ति किसी की बात नही सुनता है वह हर समय बुरा बोलता रहता है,वह खाता पिता नही है और हाँफता रहता है।

 

• शाकिनी से परेशान व्यक्ति – शाकिनी  से ज्यादातर महिलाएं ही पीड़ित रहती है ऐसी महिला को पूरे शरीर में दर्द बना रहता है और उनकी आंखों में भी दर्द रहता है वह अक्सर कापती रहती है , बेहोश होना, रोना और चिल्लाना उसकी आदत बन जाती है।

 

• चूड़ेल से परेशान व्यक्ति – चूड़ेल भी ज्यादातर किसी महिला को ही लगती है ऐसी महिला मुस्कुराती रहती है ऐसी महिला का कोई भरोसा नही होता की कब क्या कर दे । ऐसी महिला अगर शाकाहारी भी होती है तो मांस खाने लगती है।

 

● भूतों से बचने का उपाय – हिन्दू ग्रंथो में भूत से बचने के अनेकों उपाय के बारे में बताया गया है सबसे पहला उपाय यह है कि की गले में रुद्राक्ष की माला या ॐ का लॉकेट पहने हनुमान जी का स्मरण करते रहे । शराब न पिए न ही किसी प्रकार का मांस खाएं और मष्तक पर चंदन का तिलक लगाएं । हो सके तो 7 दिन में एक बार मंदिर जरूर जाएं । प्रेत बाधा निवारक हनुमान मंत्र – ऊँ ऐं ह्रीं श्रीं ह्रां ह्रीं ह्रूं ह्रैं ऊँ नमो भगवते महाबल पराक्रमाय भूत-प्रेत पिशाच-शाकिनी-डाकिनी-यक्षणी-पूतना-मारी-महामारी, यक्ष राक्षस भैरव बेताल ग्रह राक्षसादिकम्‌ क्षणेन हन हन भंजय भंजय मारय मारय शिक्षय शिक्षय महामारेश्वर रुद्रावतार हुं फट् स्वाहा।

My Image

इस हनुमान मंत्र का 5 बार जाप करने से भूत आपके कभी निकट नही आएंगे।

3. भूत, प्रेत और नकारात्मक सक्तियों से बचने का उपाय ?

उत्तर :- इस बार हम आपको कुछ भूत प्रेत और नकारात्मक सक्तियों से बचने का उपाय बताने वाले है।

1. ज्योतिष के अनुसार अगर किसी घर में भूत-प्रेतों का वास है तो इससे बचने के लिए मंगलवार या शनिवार को सात लाल साबुत मिर्च के साथ थोड़ा-सा हींग लेकर पूरे घर के कोनों में छुआ दें। अब इसे किसी चौराहे पर रख आएं। ये काम करने के बाद पीछे मुड़कर न देखें। इससे प्रेत बाधा दूर होगीं।

2.अगर किसी घर में नकारात्मक ऊर्जा हो तो इसे दूर करने के लिए एक कपूर और काली मिर्च में एक चुटकी हींग मिलाकर जलाएं। अब इसका धुआं पूरे घर में दिखाएं। इससे घर में सकारात्मकता आएगी।

 

3.यदि किसी को रात में डरावने सपने दिखते हैं तो इससे छुटकारा पाने के लिए एक चुटकी हींग को पोटली में बांधकर तकिए के नीचे रख दें। इससे डरावने सपने नहीं आएंगे।

 

4.अगर किसी व्यक्ति पर ऊपरी बाधा है तो लहसुन के अर्क में हींग और कपूर पीसकर उसे रख लें। अब हल्के हाथों से इस मिश्रण को थोड़ा-सा पीड़ित व्यक्ति की दोनों आंखों में काजल की तरह लगा दें। इस दौरान ऊँ श्री हनुमते नमः मंत्र को 11 बार पढ़ें।

5.अगर किसी को बार-बार नजर लग जाती है तो उसे हींग वाले पानी से कुल्ला करना चाहिए। इससे नजरदोष हट जाता है। अगर ये उपाय होलिका दहन के दिन की जाए तो ज्यादा फलदायी होता है।

6.अगर आप आर्थिक बोझ तले दबे हैं तो हींग के पानी से नहाएं। इससे नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाएगी। इससे आपको कई बीमारियों में भी लाभ होगा।

◆ अगर आप घर में भूत, प्रेत, लड़ाई झगड़ा , या फिर किया कराया से परेसान है या फिर आपको अपना मनपसंद जीवन साथी नही मिल रहा है या आप किसी भी परेशानी में है तो पूज्य

गुरुदेव जी को Contact कर सकते है या आप उन्हें Whatsapp भी कर सकते है।

MO : 7567233021

 

Leave a Comment

Open chat
1
हमसे बात करें -
नमस्कार मित्रों
हम आपकी क्या सहायता कर सकते है ?