divya drishti kaise prapt kare 2021 – दिव्यदृष्टि कैसे प्राप्त करें और इसके फायदे ?

Remarkables Queenstown

divya drishti kaise prapt kare – दिव्यदृष्टि कैसे प्राप्त करें ? और इसके अत्यंत शक्तिशाली फायदे ?

नमस्कार मित्रों इस लेख में आपका स्वागत है आज हम जानने वाले हैं कि दिव्य दृष्टि (divya drishti) क्या है इसे कैसे प्राप्त करें और इसकी अत्यंत शक्तिशाली फायदे कौन से हैं ?

आप सभी ने तीसरी आंख के बारे में तो सुना ही होगा इसी को दिव्य नेत्र, दिव्य चक्षु और दिव्य दृष्टि आदि नामों से जाना जाता है। इस नेत्र के खुलने पर मनुष्य के जीवन में ऐसी शक्तियों का संचार होता है जिसका कोई अनुमान भी नहीं लगा सकता । इस नेत्र के खुलने पर भूत, भविष्य और वर्तमान आसानी से जाना जा सकता है, घर बैठे तीनों लोकों की यात्रा की जा सकती है।

 

इसे भी पढ़ें :- शनि ग्रह क्या है और शनि की महादशा, ढैया और साढ़ेसाती से कैसे बचें ?

 

किन किन को मिली दिव्य दृष्टि – divya drishti kaise prapt kare

मित्रों इतिहास में कुछ ऐसे महापुरुष हुए जिन्हें दिव्य दृष्टि प्रदान की गई थी आइए उनके बारे में जानते हैं –

(1) आप सभी जानते है महाभारत में धृतराष्ट्र जन्मांध थे इसीलिए वे महाभारत का युद्ध देख नहीं सकते थे उनकी इस कठिनाई को देखते हुए भगवान श्री कृष्ण ने संजय को दिव्य दृष्टि प्रदान कि जिससे वे महाभारत युद्ध की पल पल की खबर जान सकें।

(2) भगवान वाल्मीकि के पास भी दिव्य दृष्टि थी जिससे वे एक स्थान पर बैठे भूत, भविष्य और वर्तमान देख लिया करते थे जिसकी मदद से ही उन्होंने भगवान राम के जन्म से पहले ही पूरी रामायण लिख दी थी । पूरे रामायण में इन्होंने दिव्य दृष्टि का अनेक बार प्रयोग किया था।

(3) गीता के ज्ञान के समय जब भगवान श्री कृष्ण ने अर्जुन को विराट स्वरूप दिखाया तो उस समय अर्जुन को भगवान कृष्ण द्वारा दिव्य दृष्टि प्रदान की गई थी जिससे वे श्री हरी के इस महाशक्तिशाली रूप का दर्शन कर सकें लेकिन ये दिव्य दृष्टि कुछ समय के लिए ही दी गई थी।

दिव्य दृष्टि को मंत्र, शक्तिपात, साधना से प्राप्त किया जा सकता है यदि गुरु शक्तिपात कर दे तो यह मिलने वाले व्यक्ति का सौभाग्य ही होगा कि उसे बिना कठिनाई के दिव्य दृष्टि प्राप्त हो गई इसके अलावा इसे कर्ण पिसाचिनी के माध्यम से भी प्राप्त किया जा सकता है कर्ण पिसाचीनी भूत और वर्तमान बता सकती है भविष्य नहीं। इसीलिए इसे मंत्र और साधना के माध्यम से प्राप्त किया जाता है।

 

इसे भी पढ़ें :- शाही का कांटा क्या है ? इसका प्रयोग और कहां से खरीदें ?

 

divya drishti kaise prapt kare, divya drishti kaise paye, divya drishti kya hai, divya drishti kaise prapt hoti hai, how to get divya drishti,दिव्य दृष्टि कैसे प्राप्त होती है, दिव्य दृष्टि प्राप्त का मंत्र , दिव्या दृष्टि प्राप्त करने के उपाय, तीसरी आँख खोलने का उपाय,, दिव्य शक्ति प्राप्त करने का मंत्र, दिव्य दृष्टि प्राप्त करने की साधना, तीसरी आंख, तीसरी आंख का रहस्य, तीसरी आंख खोलने का मंत्र, तीसरी आंख खोलने के फायदे, तीसरी आंख का ध्यान, तीसरी आंख के बारे में, तीसरी आंख कैसे जागृत करें, तीसरा नेत्र कैसे जागृत करें, तीसरा नेत्र खोलने का मंत्र, तीसरा नेत्र कैसे खोलें, teesri aankh kaise kholte hai, teesri aankh kaise khulega
divya drishti kaise prapt kare

 

दिव्य दृष्टि को प्राप्त करने के महाशक्तिशाली फायदे – divya drishti kaise prapt kare

मित्रों दिव्य दृष्टि प्राप्त करने से पहले इसके लाभ जानना अत्यंत आवश्यक है जिससे आपकी दिव्यदृष्टि प्राप्त करने की उत्सुकता अधिक तीव्र हो।

My Image

(1) दिव्य दृष्टि के माध्यम से एक स्थान पर बैठे तीनों लोकों के दर्शन कर सकते है। घर बैठे बैठे विदेश का आनंद प्राप्त कर सकते हैं कहीं जाने की आश्यकता नहीं पड़ेगी।

(2) दिव्य दृष्टि के माध्यम से भूत, भविष्य और वर्तमान जाना जा सकता है इसके एक स्मरण मात्र से आप कहीं का भी हाल जान सकते हैं, घर पर बैठे गांव का हाल जान सकते हैं और इससे भविष्य की बातें भी जान सकते हैं कि आपके आने वाले समय में आपके साथ क्या होगा इन सभी बातों को आप जान सकते हैं इसके अलावा भूतकाल की बातें भी जानी जा सकती हैं।

(3) दिव्य दृष्टि से भगवान के दर्शन किए जा सकते हैं इसके माध्यम से आप किसी भी देवी और देवता को प्रत्यक्ष देख सकते है उनसे बातें कर सकते हैं सत्य लोक, इन्द्र लोक, यम लोक, स्वर्ग लोक, नर्क लोक, सर्प लोक, ध्रुव लोक, तपो लोक, पाताल लोक, महर लोक, सप्तऋषि लोक ऐसे ही अनेकों लोकों के दर्शन कर सकते हैं।

 

इसे भी पढ़ें :- टोना टोटका क्या होता है, टोना टोटका हटाने का उपाय ? 

 

(4) खोई हुई चीजों का पता लगाया जा सकता है अगर आपकी कोई चीज चोरी हो गई है या खो गई है तो दिव्य दृष्टि के माध्यम से उसके नाम स्मरण मात्र से ही वह वस्तु कहां हैं वह आपको दिखने लगेगी जिससे आप अपने वस्तु कि पुन: प्राप्ति कर सकते हैं।

(5) समक्ष खड़े व्यक्ति के मन की बातें जान सकते हैं कि वह आपके लिए क्या सोचता है अभी हाल में क्या सोच रहा है और इसके माध्यम से आप किसी का सम्मोहन भी कर सकते हैं दिव्य दृष्टि यह एक त्राटक का ही हिस्सा है त्राटक के माध्यम से दिव्य दृष्टि की प्राप्ति करना यह थोड़ा मुश्किल है लेकिन इसके लिए गुरु से संपर्क होना अति आवश्यक है।

(6) मित्रों दिव्य चक्षु के खुलने से मनुष्य के जीवन में प्रलय आ जाता है वह ब्रह्म ज्ञानी हो जाता है उसे लौकिक, अलौकिक और पारलौकिक का समस्त ज्ञान प्राप्त हो जाता है वह इस लौकिक मोहमाया में न फंसकर परमात्मा को प्राप्त हो जाता है इसके एक बार खुलने से ये कभी बंद नहीं होता लेकिन इसका प्रयोग हमेशा करते रहना चाहिए।

(7) इसी के माध्यम से हमारे ऋषि और मुनि समाधि धारण करते थे । दिव्य दृष्टि के प्राप्त होने पर आसानी से समाधि लिया जा सकता है बिना दिव्य दृष्टि के समाधि लेना संभव नहीं है। आज भी ऐसे बहुत से महान ऋषि है जो समाधि लेना जानते हैं इनमें से हमारे गुरु राजकुमार दासजी को गिना जा सकता है।

 

इसे भी पड़ें :- सियार सिंगी क्या है इसके चमत्कारी टोटके और कहां मिलता है ?

 

दिव्य दृष्टि कैसे प्राप्त करें – divya drishti kaise prapt kare

मित्रों त्राटक साधना एक लंबी प्रक्रिया है और इसे बिना गुरु के सानिध्य में नहीं करना चाहिए अगर आप त्राटक साधना के माध्यम से दिव्य दृष्टि प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे पूज्य गुरुजी से संपर्क कर सकते हैं उनके सानिध्य में आप आसानी से दिव्य दृष्टि प्राप्त कर सकते हैं।

Contact and WhatsApp – 7567233021

अगर आप भी भूत, प्रेत, डाकिनी, शाकिनी, गंधर्व, बेताल, ब्रह्मराक्षस, चुड़ैल, जिन्न आदि से परेशान है तो इससे आप बहुत आसानी से छुटकारा पा सकते है हमारे पूज्य गुरुदेव के द्वारा दिए गए ताबीज से आप इन सभी से मुक्ति पाकर अपने जीवन को सुखमय बना सकते है ताबीज मात्र ₹251 में आपको घर बैठे प्राप्त हो जाएगी ।

( WhatsApp and Call :- +917567233021)

 

इसे भी पढ़ें :- छाया पुरुष साधना क्या है और इसे सिखने के महाशक्तिशाली फायदे ? 

 

सिद्ध सर्वमोहन लीला यंत्र : यह एक प्रकार की ताबीज आती है जिसे गले में धारण करने से जिसके समक्ष जाएं वह वस में हो जाता है और उससे जो कार्य करवाना चाहते है वह करवा सकते हैं और इसका असर चौबीस घंटे में होने लगता है अगर आप यह यंत्र मंगवाना चाहते है तो आप हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से मंगा सकते है :- Contact and WhatsApp :- 7567233021

अगर आपके घर में पारिवारिक समस्याएं है पति पत्नी में मतभेद है घर में लड़ाई झगड़ा होता है परिवार में लड़ाई झगड़ा होता है किसी मित्र से दुश्मनी है, मुकदमा चल रहा है ऐसी ही अनेकों समस्याओं से पूर्ण छुटकारा पाकर अपने जीवन को सकारात्मक व आनंदपूर्ण बनाने के लिए हमारे परम पूज्य गुरुजी से अवश्य बात करें। Contact no :- (+917567233021)

 

इसे भी पढ़ें :- काला जादू क्या है और काला जादू कैसे सीखें ?

 

अगर आप डायनों से बचना चाहते है या महाशक्तिशाली सिद्धियां (काली सिद्धि, भैरव सिद्धि, हनुमान सिद्धि, काली कलकत्ते सिद्धि, बंगलामुखी सिद्धि, जिन्न सिद्धि, महापिसाच सिद्धि ) ऐसी ही महाशक्तिशाली सिद्धियां सीखना चाहते है और अपने आपको महाशक्तिशाली बनाना चाहते है तो आप हमारे पूज्य गुरुदेव जी से बात कर सकते है वे सभी महासिद्धियों के ज्ञाता है गुरुदेव जी का नंबर नीचे दिया हुआ है आप उनसे बात कर सकते है :-(+917567233021)

ऐसी ही अनेकों रोचक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट :- www.jyotisite.com पर अवश्य जाएं ।

1 thought on “divya drishti kaise prapt kare 2021 – दिव्यदृष्टि कैसे प्राप्त करें और इसके फायदे ?”

Leave a Comment

Open chat
1
हमसे बात करें -
नमस्कार मित्रों
हम आपकी क्या सहायता कर सकते है ?