शाही का कांटा क्या है ? इसका प्रयोग और कहां से खरीदें – sahi ka kanta kaha milega

शाही का कांटा क्या है ? इसका प्रयोग और कहां से खरीदें ? (sahi ka kanta kaha milega)

नमस्कार मित्रों आपका इस लेख में स्वागत है आज हम जानने वाले हैं कि शाही का कांटा क्या है इसका प्रयोग क्या है और कहां मिलता है शाही का कांटा (sahi janwar ka kanta) शाही नामक प्राणी से प्राप्त होता है जिसका उपयोग वह अपने बचाव के रूप में करता हैं इस कांटे का अधिकतर प्रयोग तांत्रिक क्रियाओं में किया जाता है यह लगभग 5 cm का होता है और अत्यधिक नुकीला होता है।

साही नामक जानवर भारत, अफ़ग़ानिस्तान, चीन आदि देशों में पाए जाते हैं इनकी 24 प्रजातियां दुनियां में पाई जाती हैं । आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि एक साही जानवर के अंदर 30,000 से ज्यादा कांटें होते हैं।

इसे भी पढ़ें – सम्मोहन विद्या क्या है और इसे सीखने के फायदे?

साही के कांटे से क्या-क्या होता है -(sahi ka kanta online price)

मित्रों इसका उपयोग अनेक क्रियाओं में किया जाता है लोगों में झगड़ा लड़वाने हेतु, किसी का वशीकरण करने हेतु और अनेक टोटकाओं में इसका उपयोग किया जाता है इसका उपयोग सटीक कार्य करता है।

साही के कांटे से लड़ाई झगड़ा कैसे करवाएं : (sahi ka kanta ka prayog) 

मित्रों अगर आपकी किसी से दुश्मनी है और आप चाहते हैं कि उसका उसके पड़ोसी से झगड़ा हो जाए या उसके घर में कलेश व आपसी मतभेद उत्पन्न हो जाए और वह पूरी तरह से बर्बाद हो जाए तो ऐसे कार्यों में साही का कांटा अपनी पूरी शक्ति से कार्य करता है और कुछ समय में ही इसका असर दिखाई देने लगता है।

 

sahi ka kanta kaha milega, sahi ka kanta online price, sahi ka kanta ka prayog, sahi ke kante se vashikaran, sahi janwar ka kanta kahan milega, sahi janwar ka kanta

 

मित्रों अगर आप किसी व्यक्ति का किसी व्यक्ति से झगड़ा लड़ाई करवाना चाहते हैं तो आपको 4 साही के कांटे की आवश्यकता होगी इसमें से 2 कांटा आपको उसके दरवाजे के नीचे छुपा देना हैं या गाढ़ देना है और बचे हुए 2 कांटे को उस व्यक्ति का जिससे झगड़ा करवाना चाहते हैं उसके घर के दरवाजे के नीचे गाढ़ देना है या छुपा देना है ऐसा करने पर आपको देखने को मिलेगा कि दोनों में आपसी मतभेद उत्पन्न होने लगेगा और धीरे धीरे यह मतभेद लड़ाई झगड़े में परिवर्तित हो जाएगा और यह लड़ाई झगड़ा एक दिन विशालकाय रूप ले लेगा बस यहां पर आपको एक बात का ध्यान देना है की जहां भी आप कांटे को छुपाएं वह किसी को दिखाई नहीं देना चाहिए और वह कांटा वहां से हटना नहीं चाहिए।

 

इसे भी पढ़ें – शनि ग्रह क्या है और शनि की महादशा, ढैया और साढ़ेसाती से कैसे बचें ?

 

साही के कांटे से वशीकरण कैसे करें : (sahi ke kante se vashikaran)

मित्रों अगर आप प्रेमी हैं और प्रेमिका को अपने वश में करना चाहते है तो यह वशीकरण आपके लिए बहुत कार्यसाधक सिद्ध होगा इस वशीकरण करने मात्र से ही आपकी प्रेमिका आपके पास भागकर आएगी यह वशीकरण आपकी प्रेमिका को आपकी और अत्यधिक आकर्षित करेगा और प्रेमी के लिए भी यही प्रक्रिया है।

अगर आपकी पत्नी आपको छोड़ कर चली गई है और आप चाहते है कि आपकी पत्नी हमेशा के लिए वापस अा जाए तो यह स्याही के कांटे का वशीकरण आपके लिए अत्यंत लाभदायक है। इस वशीकरण की प्रक्रिया के पश्चात आपकी पत्नी आपको छोड़ कर कभी नहीं जाएगी और पति के लिए भी यही एकसमान प्रक्रिया है।

अगर आपके बेटे या माता पिता आपको छोड़ कर कहीं चले गए है और आपसे बात नहीं करते तो ऐसी परिस्थिति में आपके लिए यह वशीकरण प्रक्रिया अत्यंत लाभकारी है इस वशीकरण के प्रभाव से आपके बच्चे आपकी और खिचे चले आएंगे और आपको कदापि छोड़ कर नहीं जाएंगे।

अगर आप जॉब करते है और आप अपने प्रोमोशन के लिए अपने बॉस को हमेशा के लिए वस में करना चाहते है तो यह वशीकरण आपके लिए अत्यंत लाभकारी सिद्ध हो सकता है इसकी सहायता से आप अत्यंत लाभ प्राप्त कर सकते है।

Parliament Hill

मित्रों यह एक ऐसा वशीकरण है जो हर किसी पर प्रबल प्रभाव डालता है चाहे वह स्त्री हो या पुरुष हो तो चलिए मित्रों इस वशीकरण को किस प्रकार से करना है इसके बारे में जानते है।

अब मित्रों आपको अष्टगंध, गौरोचन और एक भोजपत्र ले लेना है इस वशीकरण को कोई भी कर सकता है (पुरुष स्त्री या बच्चा भी) यह एक महाशक्तिशाली वशीकरण है और इसमें किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं है।

 

इसे भी पढ़ें – गोमती चक्र क्या है और इसे अपने पर्स में रखने के अत्यंत लाभकारी, कार्यसाधक व महाशक्तिशाली फायदे ? (5)

 

अब मित्रों आपको अष्ट गंध और गौरोचान का मिश्रण बनाकर मिश्रण द्वारा भोजपत्र में तीन शैतानों का नाम लिखना है – (1) खन्नास (2) नमरूद (3) सदात और इन शैतानों का नाम लिखने के पश्चात उसके नीचे जिसका वशीकरण करना है उसका नाम और उसकी माता का नाम लिखना है।

अब मित्रों आपको भोजपत्र को मोड़कर वर्गाकार कर लेना है और उसके ऊपर जिसका वशीकरण करना चाहते हैं उसकी फोटो रखना है इसके पश्चात स्याही के कांटे (sahi janwar ka kanta) से उस फोटो के हृदय के बीचो-बीच से साही के कांटे को धसाकर आर पार कर देना है स्याही का कांटा भोजपत्र के आर पार होना चाहिए।

इतनी प्रक्रिया कर लेने के बाद अब आपको ऐसी जगह ढूंढना है जहां पर सुनसान इलाका हो और आसपास में पेड़ भी हो और वहां के किसी पेड़ में इस चीज को लटका देना है इस तरह से लटकाएं कि वह गिरे न और इस चीज के बारे में किसी को भी पता नहीं होना चाहिए। इतना करने के डेढ़ घंटे पश्चात ही इसका प्रबल प्रभाव कार्य करने लगेगा तो मित्रों इस प्रकार से इस वशीकरण इसकी प्रक्रिया है इस वशीकरण को आप कभी भी कर सकते हैं शनिवार मंगलवार और अमावस्या को इसे करना चाहिए लेकिन इसका प्रयोग किसी भी वार को किया जा सकता है।

 

चेतावनी : मित्रों यह लेख आपको कैसा लगा कमेंट में जरूर बताएं और इस लेख को अपने मित्रों में अवश्य शेयर करें ।

अगर आप भी भूत, प्रेत, डाकिनी, शाकिनी, गंधर्व, बेताल, ब्रह्मराक्षस, चुड़ैल, जिन्न आदि से परेशान है तो इससे आप बहुत आसानी से छुटकारा पा सकते है हमारे पूज्य गुरुदेव के द्वारा दिए गए ताबीज से आप इन सभी से मुक्ति पाकर अपने जीवन को सुखमय बना सकते है ताबीज मात्र ₹251 में आपको घर बैठे प्राप्त हो जाएगी ।

 

अगर आपके घर में पारिवारिक समस्याएं है पति पत्नी में मतभेद है घर में लड़ाई झगड़ा होता है परिवार में लड़ाई झगड़ा होता है किसी मित्र से दुश्मनी है, मुकदमा चल रहा है ऐसी ही अनेकों समस्याओं से पूर्ण छुटकारा पाकर अपने जीवन को सकारात्मक व आनंदपूर्ण बनाने के लिए हमारे परम पूज्य गुरुजी से अवश्य बात करें।

 

अगर आप डायनों से बचना चाहते है या महाशक्तिशाली सिद्धियां (काली सिद्धि, भैरव सिद्धि, हनुमान सिद्धि, काली कलकत्ते सिद्धि, बंगलामुखी सिद्धि, जिन्न सिद्धि, महापिसाच सिद्धि ) ऐसी ही महाशक्तिशाली सिद्धियां सीखना चाहते है और अपने आपको महाशक्तिशाली बनाना चाहते है तो आप हमारे पूज्य गुरुदेव जी से बात कर सकते है वे सभी महासिद्धियों के ज्ञाता है गुरुदेव जी का नंबर नीचे दिया हुआ है आप उनसे बात कर सकते है :-

 

ऐसी ही अनेकों रोचक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट :- www.jyotisite.com पर अवश्य जाएं ।

62 thoughts on “शाही का कांटा क्या है ? इसका प्रयोग और कहां से खरीदें – sahi ka kanta kaha milega”

  1. Pingback: Amar Jyotis

Leave a Comment

Open chat
1
हमसे बात करें -
नमस्कार मित्रों
हम आपकी क्या सहायता कर सकते है ?