शनि ग्रह क्या है और शनि की महादशा, ढैया और साढ़ेसाती से कैसे बचें (shani ki mahadasha)

Parliament Hill

सूचना :- सभी मानवमात्र को यह लेख पढ़ना अती आवश्यक है क्योंकि सभी के जीवन में शनि की महादशा (shani ki mahadasha), ढैया या साढ़ेसाती आती ही है इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ें इस लेख में इसके बचाव की पूरी जानकारी दी गई है। सभी के कल्याण हेतु अपने प्रियजन मित्रों में अवश्य भेजें।

नमस्कार मित्रों इस लेख में आपका स्वागत है मि्रों खगोल विज्ञान की मानिए तो शनि ग्रह बृहस्पति के पश्चात दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है यह आकाश में पीले तारे के रूप में दिखाई देता है इसका गुरुत्व पानी से कम है इसके 82 चंद्रमा है और सबसे बड़ा चंद्रमा टाइटन माना गया है। यह 29 साल में सूर्य का एक चक्कर लगाता है यह बुद्ध ग्रह के बराबर है इसका व्यास पृथ्वी से 9 गुना ज्यादा है और अगर घनत्व की बात की जाए 8 गुना कम है। कहा जाता है कि शनि ग्रह के अंदर 763 पृथ्वी समा सकती है।

shani ki mahadasha, shani ki mahadasha ke saral upay, Shani ki Sade Sati kab khatam hogi, shani ki sade sati ke upay, shani ki sade sati, shani ki mahadasha me kya kare, shani ki mahadasha ke upay, shani ki dhaiya ka prabhav, shani ki sade sati 2021, shani ki sade sati kab khatam hogi, shani ki sade sati in hindi, shani ki mahadasha ke lakshan, shani ki dhaiya ke upay, Shani ki Sade Sati se bachne ke Upay, shani ke dushprabhav,
shani ki mahadasha

 

शनि की महादशा होने पर इस प्रकार की परेशानियां आती है : – (shani ki mahadasha)

भूत प्रेत बाधा होना (shani ki mahadasha ke saral upay)

मित्रों ज्यादातर देखा गया है कि जिन लोगों के जीवन में शनि की महादशा (Shani ki Sade Sati kab khatam hogi) होती है उनके ऊपर भूत प्रेत का प्रभाव होता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब शनि का प्रभाव आप पर पड़ता है तो वह आपके रक्षात्मक ऊर्जा को कम कर देता है जिसके माध्यम से भूत प्रेत आपको हानि पहुंचाते है ऐसे समय में इसका उपाय अवश्य करना चाहिए लेख के अंत में हमने गुरुजी का नंबर दिया है आप उनसे इस बारे में निशुल्क बात कर सकते है।

इसे भी पढ़ें : स्याही के कांटे से अपने शत्रु को कैसे करें बर्बाद ?

प्रोपर्टी संबंधित विवाद, भाइयों से झगड़ा और परिवार से मनमुटाव (shani ki sade sati ke upay)

मित्रों शनि के प्रभाव (shani ki sade sati) के समय प्रोपर्टी संबंधित झगड़ा लड़ाई होता ही है भाइयों से भी झगड़ा लड़ाई होता है। ऐसा इसलिए होता है शनि के क्रूर दृष्टि के कारण हमारे घर में हमारे शरीर में ऊपरी शक्तियों का जैसे भूत प्रेत हमारे घर में आ जाते है जिनके कारण आर्थिक नुकसान, शारीरिक कष्ट और झगड़ा लड़ाई होना स्वभाविक हो जाता है आप लोग देखे होंगे ज्योतिषी लोग घोड़े की नाल से बनी लोहे की अंगूठी पहनने का सलाह देते हैं इसका एक कारण यह भी है कि हमारे पूरे शरीर में लगभग तीन-चार ग्राम लोहा होता है शनि ग्रह के प्रभाव के कारण वह लोहा हमारे शरीर में ऊपर की ओर खींचा जाता है जिससे हमारे शरीर का बैलेंस बिगड़ जाता है इसीलिए उस बैलेंस को सुधारने के लिए काले घोड़े की नाल से बने हुए लोहे की अंगूठी पहनने की सलाह देते हैं।

जिस प्रकार अमावस के दिन चंद्रमा समुद्र के जल को 3 या 4 किलोमीटर तक ऊपर खींच लेता है और पुनवासी के दिन जब छोड़ता है तो समुंद्र में बड़ी-बड़ी लहरें आने लगती हैं जिसके कारण हमें मुफ्त में हवा मिलती है उसी प्रकार चंद्रमा की महादशा होने पर उसके शरीर में रहे हुए जल को वह ऊपर की ओर खींच कर रखता है जिसके कारण चंद्रमा की महादशा (chandra grah ke upay) से प्रभावित व्यक्तियों में ज्यादातर जलनीय रोग देखने को मिलते हैं जैसे सर्दी, जुखाम, बुखार, खांसी और जल से संबंधित अनेक रोग होते हैं। उसी प्रकार शनि की महादशा, साढ़ेसाती, ढैया होने पर हमारे शरीर में लोहे का संतुलन बिगड़ने के कारण अनेक व्यवधान उत्पन्न होते हैं लोहा शक्ति का प्रतीक है अधिक मात्रा में मस्तिक पर पहुंचने पर क्रोध, झगड़ा लड़ाई, पागल पन, चिड़चिड़ापन और कई प्रकार के व्यवधान को उत्पन्न करता है।

शनि की महादशा (shani ki mahadasha me kya kare) साढ़ेसाती और ढैय्या से बचने के लिए मंत्र जाप व नीलम पहनने का ज्यादातर ज्योतिष सलाह देते हैं इसके सिवा कई लोग कई ज्योतिषी जाप करवाने का भी सलाह देते हैं आइए हम उसके विधान को समझते हैं।

इसे भी पढ़ें : स्याही के कांटे से महाशक्तिशाली वशीकरण कैसे करें ?

नीलम नीले रंग का होने के कारण शनि का उपरत्न माना गया है यह शनि के खराब किरणों को वापस कर वह रक्षात्मक तंत्र को मजबूत करता है इससे ऊपरी बाधा और शनि के खराब किरणों से रक्षा होती है इसलिए शनि की महादशा(shani ki mahadasha ke upay) , साढ़ेसाती और ढैय्या में नीलम रत्न को अवश्य धारण करना चाहिए। इसके सिवा स्वयं मंत्र जाप या ब्राह्मणों से मंत्र जाप करवाने से शनि के खराब किरणों को भी रोका जा सकता है जैसे चुंबक के उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव को एक दूसरे में चिपकाना मुश्किल हो जाता है उसी प्रकार शनि के मंत्र जाप से शनि के खराब किरणों को अपने पास आने से रोका जा सकता है इसीलिए ज्यादातर ज्योतिषी इसकी सलाह देते है।

इसकी जाप की सीमा कम से कम 23000 जाप की सीमा बताई है इससे अधिक से अधिक जाप करवाया जा सकता है उससे अधिक लाभ मिलता है ऐसा इसलिए होता है कि पृथ्वी से शनि ग्रह की दूरी 23000 जाप से पहुंच जाती है और वह शनि ग्रह के खराब प्रभाव को रोक देती है अधिक से अधिक जाप करवाने से अधिक लाभ इसलिए होता है कि वह ज्यादा समय तक शनि के खराब प्रभाव को रोके रखती है।

उसी प्रकार शनि यंत्र कि अपने घर में पूजा करने से शनि ग्रह के प्रभाव से बचा जा सकता है यह यंत्र शनि ग्रह के प्रभाव (shani ki dhaiya) को उल्टा शनि की ओर मोड़ देता है जिससे हमें शनि ग्रह से बचाव होता है इसके सिवा ज्योतिषियों के द्वारा शनि की पूजा का विधान बताया जाता है इसका यह कारण है भगवान शनि दुष्ट प्रवृत्ति वाले व्यक्तियों को दंड देने के लिए नियुक्त किए गए हैं हर मनुष्य अपने जीवन में कोई ना कोई पाप अवश्य करता है उस पाप का दंड मनुष्य के जीवन में जब शनि की ढैया, साढ़ेसाती, महादशा चल रही होती है उसी समय उसे दंड मिलता है इस दंड को देने के लिए भगवान शनि के गण जैसे ऊपरी शक्तियां नियुक्त होती हैं और वह हमारे जीवन को तहस-नहस कर देती हैं।

इसी कारण ज्योतिषी लोग शनिदेव की पूजा आराधना करने को कहते हैं पीपल पर जल चढ़ाना, दीप जलाने की सलाह देते हैं। जैसे कोई व्यक्ति क्रोधित अवस्था में हमें मारने आता हो और हम उसके चरणों पर गिर पड़े तो वह शांत हो जाता है उसी प्रकार शनिदेव की पूजा, पीपल पर जल चढ़ाना, दीप जलाने से शनि के क्रोध से बचाव होता है।

इसे भी पढ़ें : भूत प्रेत क्या है और इनसे बचने का उपाय ? 

My Image

अगर आप हमारे नव दुर्गा ज्योतिष केंद्र से घोड़े की नाल से बनी अंगूठी, नीलम पत्थर, मंत्र जाप करवाना चाहते हैं या शनि यंत्र मंगवाना चाहते हैं तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं हमारे यहां सिद्ध शनि यंत्र, मंत्र जाप उत्तम पंडितों के द्वारा लाइव होता है आप अपने घर बैठे हुए मंत्र जाप करते हुए पंडितों को देख सकते हैं और आप इस परेशानी से बच सकते हैं। शनि ग्रह से रक्षा हेतु या बात करने हेतु संपर्क सूत्र :-

Contact and WhatsApp :- (+917567233021)

अनैतिक संबंध का बढ़ना (shani ki dhaiya ka prabhav)

मित्रों कुछ लोगों के शनि के महादशा के समय यह भी देखा गया है कि वह अपनी पत्नी को छोड़ कर अनैतिक संबंध बनाते हैं दूसरी स्त्रियों से संबंध बनाते है शनि का प्रभाव मनुष्यों से गलत कार्य ही करवाता है लेकिन कई बार उपायों से शनि के प्रभाव से छुटकारा मिल भी जाता है।

कर्ज का बढ़ना और उसे उतारने में मस्किलें आना (shani ki sade sati 2021)

शनि की महादशा (shani ki mahadasha) के शुरुआत में ही कर्ज बढ़ना चालू हो जाता है घर में पैसा नहीं रुकता और परिवार में पैसे का आना रुक जाता है हर प्रकार से घर में कंगाली आ जाती है कर्ज उतारने में अनेकों मुश्किलें आने लगती है और कर्ज उतारना मुश्किल हो जाता है मित्रों ऐसे समय में आप हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केन्द्र से सिद्ध धन लक्ष्मी यंत्र मंगा सकते है जो आपके धन के आने के मार्ग को खोल देगा और आपका कारोबार अच्छा चलने लगेगा और हर प्रकार से सुख समृद्धि आएगी। यह यंत्र हमारे यहां से मात्र ₹501 में मिल जाएगा । (Delivery Free)

इसे भी पढ़ें : शनि देव को शांत करने की जाप और मंत्र विधि ?

Contact and WhatsApp :- (+917567233021)

कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाना पड़ सकता है (shani ki sade sati kab khatam hogi)

मित्रों शनि की महादशा(shani ki sade sati in hindi) होने पर आपको कई बार कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने पड़ सकते है और यह किसी भी कारण वस हो सकता है, प्रोपर्टी के चक्कर में, लड़ाई झगडे के चक्कर में अनेकों कारणों से आपको कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं।

नौकरी न लगना, अनचाही जगह पोस्टिंग हो जाना (shani ki mahadasha)

मित्रों शनि की महादशा (shani ki mahadasha ke lakshan) के समय में अक्सर नौकरी नहीं लगता है सभी जगह पर जाने के पश्चात भी हमें नौकरी नहीं मिलती और अगर मिल भी जाती है तो कुछ दिनों बाद नौकरी से निकाल दिया जाता है या अनचाही जगह पोस्टिंग हो जाती है।

इसे भी पढ़ें : काला जादू क्या है, काला जादू कैसे सीखे ?

प्रमोशन में बाधा आना

मित्रों जब शनि की महादशा (shani ki dhaiya ke upay) होती है तो प्रमोशन में बाधा आना स्वाभाविक है क्योंकि महादशा के समय मनुष्य के जीवन में अनेकों प्रकार की परेशानियां आने लगती है वह हर प्रकार से परेशान ही रहता है ऐसे समय में आपको हमारे यहां से अपने बॉस को वस में करने हेतु सर्वमोहन लीला यंत्र मंगा लेना चाहिए वैसे यह यंत्र सभी को वस में करने हेतु है लेकिन अगर आप सिर्फ अपने बॉस को करना चाहते है तो आप 7567233021 नंबर पर हमसे बात करें जिससे आपका बॉस हमेशा आपके वस में ही रहेगा और आप जो बोलोगे वह वहीं कार्य करेगा।

व्यापार या व्यवसाय में मंदी का आना

मित्रों जब शनि की महादशा (Shani ki Sade Sati se bachne ke Upay) होती है तो व्यापार में मंदी आना स्वाभाविक है काम काज रुक जाना, पैसा ज्यादा खर्चा होना, बचत नहीं होना यह सभी परेशानियां महादशा के समय आती ही है तो ऐसी परेशानियों से बड़ी आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है इनसे छुटकारा पाने के लिए हमारे यहां व्यापार में बढ़ोत्तरी के लिए सिद्ध धन लक्ष्मी यंत्र आता है जो आपको ₹501 में मिल जाएगा जो आपके व्यापार को बढ़ाएगा आपके पैसे आने के मार्ग को खोल देगा और चारों तरफ से घर में पैसे का आगमन होगा।

शनि की महादशा से बचने के उपाय — shani ki mahadasha se bachne ke upay

1. सूर्यास्त के पश्चात भगवान हनुमान की पूजा करें, काली तिल के तेल का दिया और नीले फूलों का प्रयोग करें और सिंदूर का अवश्य लें।

2. 10 नामों द्वारा शनिदेव की पूजा करें :- मंद, पिप्पलाद, यम, सौरि, शनैश्चर, रौदांतक, बभ्रू, पिंगल, कौणस्थ और कृष्ण।

3. सिद्ध शनि यंत्र की मंदिर में और कार्यस्थल पर स्थापना करें : — मित्रों सिद्ध शनि यंत्र शनि के महादशा को कम करने में अधिक लाभदायक है इसकी स्थापना मंदिर और कार्यस्थल पर करने से और प्रतिदिन पूजा करने से शनिदेव प्रसन्न होते है, मान सम्मान में वृद्धि होता है, बीमारियों से छुटकारा मिलता है, व्यापार में सफलता प्राप्त होती है, धन लाभ होता है अगर आप सिद्ध शनि यंत्र मंगाना चाहते है तो आप हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से मंगा सकते है जहां आपको यह केंद्र ₹251 में मिल जाएगा (हमारे यहां सभी सामानों में डिलेवरी फ्री होती है)

इसे भी पढ़ें : शनि ग्रह क्या है और शनि की महादशा, ढैया और साढ़ेसाती से कैसे बचें ?

4. नीलम रत्न की अंगूठी धारण करें : नीलम रत्न की अंगूठी धारण करने से शनि के दुष्प्रभाव (shani ke dushprabhav) कम होते है, भाग्य में बढ़ोत्तरी होती है, धन में वृद्धि होती है इसकी अंगूठी पहनने से पहले किसी ज्योतिषी की सलाह जरूर लें ।

5. प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करें।

6. प्रतिदिन कौवे को रोटी खिलाएं।

7. तिल, उड़द, तेल, काला वस्त्र और जूते का दान करना चाहिए।

8. अंधे, अपंगों, गरीबों, सेवकों और सफाई कर्मचारियों की सहायता करें और उन्हें दान दें।

9. भैरव बाबा को शराब चढ़ाएं ।

10. शनिवार को सरसों का तेल न खरीदें नहीं तो आपको परेशानियां उठानी पड़ सकती है।

मित्रों यह कुछ प्रभावी उपाय है जिनसे आप शनि के प्रभाव से बच सकते है अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने मित्रों में अवश्य भेजें।

अगर आप साधक है और आपके पास किसी विद्या का अनुभव है या आप किसी विद्या कि सिद्धि कैसे करें इसके बारे में जानते है तो आप लेख के माध्यम से हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र को अपना अनुभव दे सकते है जिसे हम फेसबुक, वॉट्सएप और हमारे वेबसाइट पर अपलोड कर देंगे। जिससे आपकी सिद्धि के बारे में लोगों को पता चलेगा और लोगों के ज्ञान में वृद्धि होगी

ऐसा करके हमारी सहायता जरूर करें।

अगर आप भी भूत, प्रेत, डाकिनी, शाकिनी, गंधर्व, बेताल, ब्रह्मराक्षस, चुड़ैल, जिन्न आदि से परेशान है तो इससे आप बहुत आसानी से छुटकारा पा सकते है हमारे पूज्य गुरुदेव के द्वारा दिए गए ताबीज से आप इन सभी से मुक्ति पाकर अपने जीवन को सुखमय बना सकते है ताबीज मात्र ₹251 में आपको घर बैठे प्राप्त हो जाएगी ।

Contact and WhatsApp :- 7567233021

अगर आपके घर में पारिवारिक समस्याएं है पति पत्नी में मतभेद है घर में लड़ाई झगड़ा होता है परिवार में लड़ाई झगड़ा होता है किसी मित्र से दुश्मनी है, मुकदमा चल रहा है ऐसी ही अनेकों समस्याओं से पूर्ण छुटकारा पाकर अपने जीवन को सकारात्मक व आनंदपूर्ण बनाने के लिए हमारे परम पूज्य गुरुजी से अवश्य बात करें। Contact no :- (+917567233021)

अगर आप डायनों से बचना चाहते है या महाशक्तिशाली सिद्धियां (काली सिद्धि, भैरव सिद्धि, हनुमान सिद्धि, काली कलकत्ते सिद्धि, बंगलामुखी सिद्धि, जिन्न सिद्धि, महापिसाच सिद्धि ) ऐसी ही महाशक्तिशाली सिद्धियां सीखना चाहते है और अपने आपको महाशक्तिशाली बनाना चाहते है तो आप हमारे पूज्य गुरुदेव जी से बात कर सकते है वे सभी महासिद्धियों के ज्ञाता है गुरुदेव जी का नंबर नीचे दिया हुआ है आप उनसे बात कर सकते है :-(+917567233021)

ऐसी ही अनेकों रोचक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट :- www.jyotisite.com पर अवश्य जाएं ।

101 thoughts on “शनि ग्रह क्या है और शनि की महादशा, ढैया और साढ़ेसाती से कैसे बचें (shani ki mahadasha)”

  1. Pingback: Amar Jyotis

Leave a Comment

Open chat
1
हमसे बात करें -
नमस्कार मित्रों
हम आपकी क्या सहायता कर सकते है ?